भाजपा की कथनी व करनी में अंतर- हर्षवर्धन चैहान

भाजपा शासन में महिलाओं पर बढ़े अत्याचार

HNN/ शिमला

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष व विधायक शिलाई विधानसभा हर्षवर्धन चौहान द्वारा संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए प्रदेश की भाजपा सरकार पर महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और किसानों-बागवानों के मुद्दे पर प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लिया। हर्षवर्धन चौहान ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार के पिछले 4 वर्षों के शासनकाल में महंगाई चरमसीमा पर पहुंच गई है। खाद्य वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे है।

रसोई गैस सिलेंडर 1000 रूपये के पार हो चुका है। पेट्रोल-डीजल के दामों में निरंतर वृद्धि हो रही है। प्रदेश में बेराजगारों की संख्या में बेतहाशाा वृद्धि हो चुकी है और प्रदेश की भगवाधारी सरकार यूपी, बिहार और मध्य प्रदेश के लोगों को रोजगार दे रही है, जिससे आज प्रदेश का युवा परेशान हो चुका है। किसान-बागवान प्रदेश सरकार की कुनीतियों से परेशान हो चुके है। सरकार ने जो भी कागजी घोषणाएं की उनका धरातल पर कोई वजूद नहीं है।

कालका-परवाणू व कीरतपुर- ने र चौक फोरलेन का कार्य जिस गति पर चल रहा है। उस पर हाईकोर्ट को बार-बार दखल करना पड़ रहा है। भाजपा के शासनकाल में महिलाओं पर अत्याचारों के मामलों में वृद्धि हुई है और प्रदेश सरकार बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ राग अलापती है।हर्षवर्धन चैहान ने आरोप लगाया कि प्रशासन व चुनाव आयोग भाजपा सरकार के इशारे पर काम कर रहा है। जो भी अधिकारी निष्पक्ष होकर कार्य करता है, भाजपा सरकार उसका स्थानांतर कर देती है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा चुनाव आयोग के पास 100 से अधिक आचार संहिता के उल्लघंन की शिकायतें की गई है, जिस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है, जबकि चुनाव आयोग एक निष्पक्ष संस्था है। उन्होंने चुनाव आयोग से अपील की है कि संवेदनशील व अति संवेदनशील स्थानों पर उचित निगरानी रखी जाए, ताकि आगामी उप-चुनाव में भाजपा अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए किसी भी प्रकार के धन-बल का उपयोग न कर सके और उप-चुनाव एक निष्पक्ष तरीके से आयोजित हो।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो