भूखी प्यासी महिलाओं ने लगाए सीएम व विधायक मुर्दाबाद के नारे

HNN / बद्दी

करवा चौथ के व्रत के बावजूद झाड़माजरी स्थित कपड़ा उद्योग जिनी एंड जोनी के खिलाफ निकाली रोष रैली में भारी संख्या में महिला कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। भूखी प्यासी महिलाओं ने जहां रोष मार्च निकाला, वहीं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, दून विधायक और श्रम अधिकारी के मुर्दाबाद के नारे लगाए। इंटक प्रदेशाध्यक्ष बबलू पंडित की अगुवाई में दर्जनों कर्मचारियों ने उद्योग प्रबंधन की दमनकारी नितियों के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि पिछले 4 महीने से जिनी एंड जोनी उद्योग के कर्मचारी अपने हक और मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। उद्योग के गेट पर लंबे समय से दिन रात धरना प्रदर्शन के बावजूद भी न तो श्रम विभाग और न सरकार और न ही उद्योग प्रबंधन कर्मचारियों की सुनवाई कर रहा है। जिसके चलते रविवार को गुस्साए कर्मचारियों ने श्रम अधिकारी के साथ साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और दून विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मुर्दाबाद के नारे लगाए।

इंटक के प्रदेशाध्यक्ष बबलू पंडित ने कहा कि प्रदेश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन में लगातार मजदूरों का शोषण किया जा रहा है। यहां तैनात श्रम अधिकारी प्रबंधन के साथ मिलकर अपनी जेबें भर रहे हैं और मजदूरों की आवाज को दबाया जा रहा है। बबलू पंडित ने कहा कि पिछले चार महीने से ज्यादा का समय हो गया, कर्मचारी दिन रात गेट पर धरना देकर बैठे हैं बावजूद इसके उद्योग प्रबंधन श्रमिकों को उनका हक देने को तैयार नहीं है।

मजदूरों ने हर जगह अपनी आवाज उठाई लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही। बबलू पंडित ने कहा कि हिमाचल सरकार द्वारा उद्योगों में 70 फिसदी हिमाचलियों को रोजगार के नियम की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। जिनी एंड जोनी उद्योग प्रबंधन ने कर्मचारियों को बाहर का रास्ता और उनके हकों पर भी डाका डाला। जिसके खिलाफ रविवार को श्रमिकों ने रोष रैली निकालकर उद्योग प्रबंधन, श्रम विभाग व प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इंटक प्रदेशाध्यक्ष ने चेतावनी दी कि अगर अब भी श्रमिकों को उनका हक नहीं दिया गया तो इंटक उग्र आंदोलन को विवश हो जाएगी।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो