मंदी के दौर से गुजर रहा होटल व्यवसाय फिर भी बैंक से जारी होने लगे टेक ओवर नोटिस

HNN/ शिमला

कोरोना काल के कारण होटल व्यवसाय भारी मंदी के दौर से गुजर रहा है। कोरोना काल का दौर शुरू होने के पहले होटल व्यवसाय मुनाफे का धंधा साबित हो रहा था। छोटे से बड़े होटलों के अधिकांश कमरे आमतौर पर बुक रहते थे। अतिथियों की लगातार आवाजाही से होटलों में रौनक बनी रहती थी। लेकिन कोरोना काल के कारण लॉकडाउन का दौर शुरू होने के बाद से अब तक होटल कारोबारी मंदी की मार झेल रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार द्वारा बाहरी राज्यों से आने वाले सैलानियों के लिए बंदिशे लगाई गई है जिसके चलते बेहद कम सैलानी हिमाचल के पर्यटन स्थलों का रुख कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ हिमाचल के विभिन्न पर्यटक स्थलों में होटलों पर बैंकों से टेक ओवर नोटिस भी जारी होने लगे हैं जिससे होटल कारोबारियों सहित होटल एसोसिएशन के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई है।

होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहिंद्र सेठ ने सरकार से अन्य पर्यटक राज्यों की तर्ज पर एक वर्ष के लिए सभी प्रकार के टैक्स तथा बिजली पर लगने वाले डिमांड चार्जेस को समाप्त कर पर्यटन कारोबारियों को राहत प्रदान करने की मांग की है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो