मढीघाट-सुल्तानपुर मार्ग की घटिया गुणवत्ता को लेकर ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शन

अगर अभी भी लोक निर्माण विभाग की नहीं टूटी नींद तो हाईवे पर करेंगे चक्का जाम

HNN / पच्छाद

पच्छाद उपमंडल की मढीघाट-सुल्तानपुर मार्ग की घटिया गुणवत्ता पर ग्रामीणों ने सोमवार सुबह प्रदर्शन किया। साढ़े 8 बजे से 11ः30 बजे तक विभाग के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया। बाग पशोग पंचायत के पूर्व प्रधान प्रकाश भाटिया के नेतृत्व में दर्जनों ग्रामीणों ने एकत्रित होकर लोक निर्माण विभाग के खिलाफ नारेबाजी तथा प्रदर्शन किया। लोक निर्माण विभाग के पच्छाद मंडल के अधिशाषी अभियंता व एसडीओ सराहां के मौके पर पहुंचने के बाद माहौल शांत तो हुआ, लेकिन ग्रामीणों का गुस्सा तब भी बरकरार रहा ।

गामीणों का आरोप है कि 21 किलोमीटर की सड़क की मैटलिंग व अन्य कार्यों के लिए साढ़े 6 करोड़ की राशि खर्च की गई है। बावजूद इसके सड़क टूटी-फूटी है। ग्रामीणों की मानें तो यह मामला पहले भी उठाया गया था। कुछ अरसा पहले विधायक रीना कश्यप ने भी उचित कदम उठाने का आश्वासन दिया था, मगर नतीजा जीरो रहा। मजबूरन लोगों को अपना कामकाज छोड़कर सोमवार सुबह फिर अपने जायज हक के लिए एकत्रित होना पड़ा।

ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि अगर लोक निर्माण विभाग की नींद अब भी नहीं टूटी, तो न केवल हाईवे पर चक्का जाम जैसे कठोर कदम उठाने पर मजबूर होना पड़ेगा, बल्कि आने वाले चुनाव का बहिष्कार भी किया जाएगा। ग्रामीणों ने बेहद ही गुस्से भरे लहजे में कहा कि 40 साल के लंबे इंतजार के बाद ये सड़क नसीब हुई थी। मगर अब ये सड़क भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है। उन्होंने सवाल उठाया कि क्वालिटी कंट्रोल को चुप्पी साधे बैठा है। प्रदर्शनकारियों का ये भी कहना था कि सड़क का पैचवर्क मंजूर नहीं है। इसकी रिमैटलिंग होनी चाहिए। साथ ही नालियों का निर्माण भी उचित तरीके से किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सड़क में दो फीट तक के गड्ढे पड़ चुके हैं।

उग्र लोगो ने साफ तौर पर कहा कि विभाग इसका स्थाई समाधान करे। उधर एक्सईएन लोक निर्माण विभाग सराहां अपनी पूरी विभागीय टीम के साथ मौके पर पहुँचे, जहाँ उन्होंने लोगों का काफी विरोध सहा। उन्होंने लोगों से पूरे कार्य पर बात की। उन्होंने कहा कि जाँच टीम ने इसका निरीक्षण किया है जिसकी रिपोर्ट आनी बाकी है। फिलहाल पैचवर्क को रोक दिया गया है। उन्होंने लोगो से कार्य मे सहयोग की अपील की जिसके लिए लोगों ने भी इसे सहर्ष स्वीकार किया है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो