मुंह की चोट के बावजूद भी, मोटरसाइकिल पर सवार होकर घर-घर जा वृद्धजनों को लगाई कोविड वैक्सीन

HNN/ ऊना वीरेंद्र बन्याल

अंब उपमंडल के तहत आने वाले मसलाणा गांव के निवासी स्वास्थ्य कार्यकर्ता अनिल कुमार सही मायने में कोरोना योद्धा हैं। मुंह पर चोट लगने के बावजूद ड्यूटी के प्रति उनका जज़्बा कम नहीं हुआ। घायल होने के बावजूद अनिल कुमार ने अपनी मोटरसाइकिल पर सवार होकर घर-घर जाकर 17 वृद्धजनों को कोविड वैक्सीन लगवाई। अनिल कुमार ने कहा “11 अगस्त को मेरा बाइक का एक्सीडेंट हो गया था।

दुर्घटना में काफी गंभीर चोटें आईं और मुंह पर भी कई घाव थे। गंभीर चोटों के चलते मुझे क्षेत्रीय अस्पताल ऊना रैफर कर दिया गया, जहां पर मेरा इलाज किया गया। 13 अगस्त को मुझे अस्पताल से छुट्टी मिली तथा घर पर आराम करने की सलाह दी गई। लेकिन मैंने आराम नहीं किया और 14 व 15 अगस्त को वृद्धजनों व दिव्यांगों को घर-घर जाकर टीके लगाए।

मुझे लगा कि कोरोना की इस महामारी के दौर में घर पर बैठने से ज्यादा मेरा कर्तव्य जरूरी है।” दुर्घटना में घायल होने के बावजूद स्वास्थ्य कार्यकर्ता अनिल कुमार ने गांव मसलाणा, जगननाथ मंदिर व ज्वार में अपनी सेवाएं दी। बीएमओ अंब डॉ. राजीव गर्ग ने कहा कि अनिल कुमार ने कोविड वैक्सीनेशन में सराहनीय कार्य किया है। वैक्सीनेशन का कार्य शुरू होने से लेकर अब तक अनिल कुमार ने 4500 से अधिक टीके लगाए हैं।

अंब में पहली डोज़ के शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल कर लिया गया है और अब हम दूसरी डोज़ भी शत-प्रतिशत लगाने की ओर बढ़ रहे हैं। इस कार्य में स्वास्थ्य कार्यकर्ता अनिल कुमार जैसे कर्मठ कर्मचारियों की मेहनत महत्वपूर्ण है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो