मुख्यमंत्री जी इन्वेस्टर मीट के बहाने ही सही सिरमौर सहित BBN को दिलाएं रेल

भाजपा सांसद दो बार सिरमौर को रेल दिलाने के मुद्दे पर पहुंचे हैं दिल्ली संसद, अब तो है डबल इंजन की सरकार

HNN News/ नाहन

KD सुल्तानपुरी कोंग्रेसी सांसद के बाद भाजपा के जितने भी सांसद सुरेश कश्यप से पहले दिल्ली संसद पहुंचे है सभी ने सिरमौर वासियों को रेल दिलाने के सुनहरे सब्ज़बाग दिखाए थे मगर हकीकत में किसी ने रेल नहीं दिलाई है। इस बार प्रदेश की जयराम सरकार को एक बड़ा सुनेहरा अवसर इन्वेस्टर मीट के बहाने सिरमौर के लिए रेलवे लाइन की केंद्रीय मंत्रियों के समक्ष सिफारिश करने मौका मिला है।

इन्वेस्टर मीट पर करोड़ों के इन्वेस्टमेंट की बात की जा रही है। प्रदेश में जयराम सरकार उद्योग क्रांति लाने के बड़े दावे भी कर रही है मगर प्रदेश के दूसरे बड़े प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब, पांवटा साहिब और नालागढ़, बद्दी, बरोटीवाला को आज तक रेलवे लाइन नहीं मिल पाई है।

जबकि, उद्योगपतियों को यदि इन औद्योगिक क्षेत्रों में रेलवे सुविधा मिलती है तो ना केवल नए इन्वेस्टर्स के लिए यह बड़ा आकर्षण होगा बल्कि मौजूदा उद्योगपतियों के लिए यह संजीवनी साबित होगा। परन्तु क्या जिला सिरमौर की इन्वेस्टर मीट में जयराम सरकार केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सिफारिश कर पाएंगे या नहीं कहा नहीं जा सकता। क्योंकि इन्वेस्टर मीट को विपक्ष अभी से ही कटघरे में खड़ा कर रहा है जबकि प्रदेश के प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र आज भी ट्रांसपोर्टेशन को लेकर रेल सुविधा से महरूम है।

बरहाल, अगर इस इन्वेस्टर मीट में सिरमौर के साथ साथ BBN को रेलवे लाइन से सरकार जोड़ने की सिफारिश करती है तो यह इन्वेस्टर मीट आने वाले समय के लिए सोने पर सुहागा होगा।

बता दें कि सिरमौर व नालागढ़ को रेलवे लाइन से जोड़ने को लेकर दो बार सर्वे भी हो चूका है। अम्बाला कैंट के साथ जुड़ा होने के चलते सामरिक दृष्टि से व उद्योगों के साथ साथ प्रदेश के बागवानों के लिए भी इन दो क्षेत्रों को रेल से जोड़ा जाना महत्त्वपूर्ण माना गया है।