मेडिकल कॉलेज के आउट सोर्स कर्मियों ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

HNN/ नाहन

डॉ यशवंत सिंह परमार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नाहन में आउट सोर्स के माध्यम से तृतीय एवं चतुर्थी श्रेणी के कर्मियों ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आउटसोर्स कर्मियों ने कॉलेज प्रशासन पर समय से वेतन न देने के आरोप लगाए हैं। इन कर्मियों का कहना है कि वह बिना वेतन के दिवाली कैसे मनाएंगे और अपने परिवार का पालन पोषण कैसे करेंगे।

दरअसल बीते वर्ष कोविड-19 के दौरान मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 के मरीजों को उचित सुविधा मिल सके इसके लिए आउट सोर्स माध्यम से कर्मचारियों की भर्ती करवाई थी। जिसके चलते काफी कर्मचारियों ने इसके लिए आवेदन किया और पूरी निष्ठा के साथ कोविड-19 के दौरान अपनी सेवाएं दी। लेकिन अब इन सभी कर्मियों ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

मीडिया से बातचीत के दौरान कर्मियों ने कहा कि उन्हें समय से वेतन नहीं दिया जा रहा है ऐसे में वह घर का खर्चा कैसे चलाएंगे अपने परिवार की जरूरतों को कैसे पूरा करेंगे। कर्मियों का कहना है कि उन्हें तीन महीनों के बाद ही वेतन मिलता है और जो वेतन मिलता है वह दो महीनों का होता है ऐसे में 1 महीने का वेतन फिर से रह जाता है।

वहीं अब देशभर में मनाए जाने वाला दीपावली का त्योहार नजदीक आ रहा है। उधर इस मामले में पूछे जाने पर मेडिकल कॉलेज नाहन के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ एसएल कौशिक ने कहा कि मामला संज्ञान में है और जल्द ही आउटसोर्स कर्मियों को उनका वेतन का भुगतान कर दिया जाएगा।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो