यूजी परिणाम अभी तक घोषित नहीं, फिर भी छात्रों ने डाउनलोड किया परिणाम

HNN / शिमला

विश्वविद्यालय ईआरपी में लगातार गड़बड़ियों को देखते हुए विद्यार्थी परिषद् ने अधिष्ठाता अध्ययन का घेराव किया। मीडिया को जानकारी देते हुए इकाई अध्यक्ष विशाल सकलानी ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन को, ई.आर.पी. से मिली झूठी थपथपाहट मीठी लगने लगी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश विश्वविद्यालय ई. आर. पी. में गड़बड़ियों का स्तर बढ़ गया है।

उन्होंने बताया कि पहले तो प्रशासन टेस्टिंग के नाम पर प्रशासन ने छात्रों का गलत परिणाम घोषित करता आया है, लेकिन इस बार तो बिना टेस्टिंग के टोरेंट सॉफ्टवेयर से रिजल्ट छात्र डाउनलोड कर रहे है। पूरे प्रदेश के छात्रों को एक बार फिर मानसिक तनाव जैसी स्थिति में डाल दिया है, लेकिन रिजल्ट में कोई सच्चाई नहीं है।

उन्होंने कहा कि जिस तरह बिना किसी अन्य सॉफ्टवेयर से लिंक बदल कर जैसे परिणाम डाउनलोड हो रहे हैं, यह परिणामों की गोपनीयता पर सवाल खड़ा करता है और ई आर पी को एक बार फिर सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन सिस्टम का लक्ष्य छात्रों को सहूलियत प्रदान करना है लेकिन इसकी खामियों के कारण छात्र अनेक समस्याओं का सामना कर रहे हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो