राशन कार्ड उपभोक्ताओं को झटका, जुलाई माह में भी नहीं मिली…

नगर परिषद नाहन
सार्वजनिक सूचना

सर्वसाधारण को एतत् द्वारा सूचित किया जाता है कि नगर परिषद नाहन में सीएलसी के माध्यम से 50 सफाई कर्मचारियों की सफाई कार्य के लिए आवश्यकता है। जो भी व्यक्ति जिसकी आयु 18 वर्ष से अधिक हो और नगर परिषद क्षेत्र नाहन में सफाई का कार्य करने का इच्छुक हो वह सीएलसी नाहन में निर्धारित फीस 150, आधार कार्ड फोटो, बैंक खाता और निवास का प्रमाण पत्र देकर अपना नाम दर्ज़ करवा सकता है। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित दैनिक दरों के आधार पर वेतन दिया जाएगा।

सचिव सीएलसी (शहरी आजीविका केंद्र) नगर परिषद नाहन जिला सिरमौर (हिमाचल प्रदेश)
कार्यकारी अधिकारी एवं अध्यक्ष सीएलसी (शहरी आजीविका केंद्र) नगर परिषद नाहन जिला सिरमौर (हिमाचल प्रदेश)

HNN / शिमला

हिमाचल प्रदेश की जनता जहां एक तरफ इस महामारी में बेरोजगारी और महंगाई से जूझ रही है, तो वही राशन कार्ड उपभोक्ताओं को भी जुलाई माह में कोई राहत प्रदान नहीं की गई है। खाद्य आपूर्ति विभाग की तरफ से सरसों तेल व रिफाइंड के दामों में फिलहाल कोई कमी नहीं की गई है। जुलाई माह में भी उपभोक्ताओं को सरसों तेल महंगा मिलेगा।

बता दें कि प्रदेश में साढ़े 18 लाख राशन कार्ड उपभोक्ताओं को सस्ता राशन उपलब्ध करवाया जाता है, लेकिन कोविड काल में डिपुओं में बढ़े तेल के दामों के बाद इन उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार पड़ी है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत आने वाले परिवारों को सरसों का तेल 152 रुपये प्रति लीटर, एपीएल कार्ड धारकों को 158 रुपये प्रति लीटर और एपीएल इनकम टैक्स पेयर कार्ड धारकों को 178 रुपये प्रति लीटर सरसों तेल मिल रहा है।

वही डिपो में उपभोक्ताओं को तीन दालें मलका, मूंग और चना दाल दी जा रही है। दाल चना 55 और मूंग-मलका 70-70 रुपये प्रति किलो दी जा रही है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो