रेणु मंच पर इस बार विधायक विनय के भाषण पर भारी पड़ा बलवीर का भाषण

शिष्टाचार व कूटनीति से लबरेज भाषण में अब राजनीतिक परिपक्वता का दिया प्रमाण,, रेणुका जी क्षेत्र के नौजवान बेरोजगार युवकों के लिए मांगे उद्योग व पर्यटन नीति

HNN News श्री रेणुका जी

अंतर्राष्ट्रीय श्री रेणुका जी मेले के समापन समारोह के दौरान रेणु मंच जहां सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए आकर्षण का केंद्र रहता है तो वहीं इस मंच पर सरकार के पक्ष और विपक्ष एक दूसरे पर निशाना साधने के लिए जो शब्द बाण चलाते हैं लोगों को उसका भी बड़ा बेसब्री से इंतजार रहता है।

आज मंगलवार को रेणूं मंच पर मुख्यमंत्री का जोरदार स्वागत हुआ। इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को रेणुका विकास बोर्ड के अध्यक्ष व उपायुक्त सिरमौर डॉक्टर आरके पारुथी ने उन्हें सिरमौरी लोहिया व ढांगरादे कर सम्मानित किया गया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल सांसद सुरेश कश्यप, संगठन मंत्री पवन राणा, विधायक सुखराम चौधरी, पूर्व विधायक श्री रेणुका जी रूप सिंह व हृदय राम, एससी एसटी मोर्चा के पूर्व प्रदेश उपा अध्यक्ष बलवीर चौहान, जिला भाजपा अध्यक्ष विनय गुप्ता, आदि मुख्य रूप से मंच पर मौजूद थे।

सबसे पहले मंच पर प्रदेश एससी एसटी मोर्चा के पूर्व उपाध्यक्ष वह श्री रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी रहे बलबीर चौहान को रेणु मंच मिला।

बड़ी बात तो यह है कि जहां पहले बलवीर चौहान का भाषण उबाऊ हुआ करता था तथा स्थानीय विधायक विनय कुमार के तीखे हमलों का कारण बना करता था। वहीं इस बार बलवीर चौहान ने परिपक्व राजनीतिक वक्त कूटनीतिक अंदाज में मर्यादित भाषण देकर सब को अचंभे में डाल दिया।

बलवीर चौहान ने पक्ष विपक्ष के हर नेता को आदर के साथ अपने भाषण में स्थान देते हुए बातों ही बातों में विनय कुमार को बुरी तरह से जख्मी भी किया। बड़ी बात तो यह है कि आज तक किसी ने भी सिरमौर के लोगों युवकों का शिमला में सिरमौरी कुली को लेकर किसी ने भी उनके उत्थान को लेकर नहीं कहा है।

बलबीर चौहान ने मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए रेणु मंच से पहली बार यह मांग रखी कि इन्वेस्टर मीट का एक बड़ा फायदा श्री रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र को भी मिले गिरी पार्क क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए बड़ी योजना लाई जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि अगर कोई बड़ी योजना या उद्योग यहां स्थापित होता है तो जो विनोद पामोजा यहां का बेरोजगार नौजवान है उसे शिमला में सिरमौरी कुली नहीं कह लाना पड़ेगा।

इसके अलावा उन्होंने मुख्य मुद्दों पर ही चर्चा रखी जिसमें मुख्य रुप से मां रेणुका जी झील पर मंडरा रहे बड़े खतरे का भी वाडिया इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट के हवाले से अवगत कराया। उन्होंने रेणुका झील के चारों और मजबूत चारदीवारी और बरसात के पानी की निकासी को लेकर एक बड़ी योजना बनाने के लिए भी आग्रह रेणु मंच से किया।

वही रेणु मंच पर स्थानीय विधायक विनय कुमार केवल नोहराधार में कॉलेज की मांग को लेकर बोले जबकि विधानसभा क्षेत्र के लोग जानते हैं कि करीब 15 से अधिक पंचायतों के प्रतिनिधियों के साथ बलवीर चौहान ने इस कॉलेज की मांग को शिमला तक पहुंचा रखा है। जहां इस बार के भाषण में बलबीर चौहान ने विनय कुमार को जरा सी भी जगह घेरने के लिए नहीं छोड़ी थी तो वहीं कुछ रही सही कसर मुख्यमंत्री ने भी मंच पर अपने भाषण के दौरान पूरी कर दी।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि विनय कुमार जी आज बड़े शांत नजर आ रहे हैं उन्हें इस शांति को और लंबे समय तक बना कर रखना पड़ेगा। क्योंकि देश में इस समय यह सब शांत रहे तो ही अच्छा है। रेणु मंच पर उपचुनाव में जीत कर आई रीना कश्यप को बोलने का मौका भले ना मिला हो मगर मुख्यमंत्री बातों ही बातों में यह भी कह गए कि इस बार इस विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने कड़ी परीक्षा ली है। उनका इशारा अपने ही कुछ खास लोगों की और भी था।

वही बड़ी बात तो यह भी है कि उपचुनाव में भले ही विधानसभा अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल पर्दे के पीछे रहे मगर मुख्यमंत्री ने यह भी कह दिया की जनता ने हर चीज को सही ठहराया है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल इस बार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के काफी नजदीक नजर आए। क्योंकि इस मेले के शुभारंभ के दौरान बिंदल ने ओपनिंग का सारा श्रेय भरत बनकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ही दिया। संभवत मुख्यमंत्री मां रेणुका के आशीर्वाद की रवायत को प्रतिबंध भी करना चाहते हैं। इसीलिए ऐसी भी संभावनाएं हो रही है कि जल्द जयराम ठाकुर के मंत्रिमंडल में उन्हें कोई अच्छा मंत्रालय मिल जाए।

बरहाल भले ही इस बार रेणु मंच से मुख्यमंत्री ने कोई बड़ी घोषणा नहीं की मगर इसमें भी कोई शक नहीं है कि लोग यानी सिरमौर की जनता बड़ी बेसब्री से सरकार में एक बड़े पद की लालसा लिए बैठे हैं।