लोगों की सुरक्षा को लेकर सिरमौर फूड सेफ्टी एक्शन मोड में

2 दिनों में ही बड़ी कार्यवाही, मिठाइयों के 8 सैंपल भेजें लैब….

HNN/ नाहन

त्योहारों के सीजन में लोगों के स्वास्थ्य की चिंता को लेकर जिला सिरमौर फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट इन दिनों एक्शन मोड में है। 23 अक्टूबर शनिवार को फूड सेफ्टी ऑफिसर सुनील शर्मा की टीम ने नाहन बाजार में अचानक अपनी धमक दी। फूड सेफ्टी टीम के द्वारा गुन्नू घाट स्थित मिठाई की दुकानों से तीन अलग-अलग खाद्य पदार्थों के सैंपल उठाए गए। जिनमें बेसन, लड्डू, कलाकंद तथा मिलक केक आदि के सैंपल लिए गए।

गौरतलब हो कि फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट के द्वारा पांवटा साहिब में भी 5 सैंपल मिठाइयों के लिए गए थे। जिसमें खोया, बर्फी, मिलक केक सहित चॉकलेट के गिफ्ट पैक आदि शामिल थे। विभाग के द्वारा सभी लिए गए 8 सैंपल को कंडाघाट टेस्ट लैब में भेज दिया गया है। अब यदि यह सैंपल फेल पाए जाते हैं तो अंडर फूड एंड सेफ्टी एक्ट के तहत कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है।

बता दें कि यदि लिए गए सैंपल सब्सटेंडर्ड निकलते हैं तो इस पर 500000 रूपए तक का जुर्माना मिस ब्रांड पर 300000 रूपए तथा अनसेफ रिपोर्ट आने पर 5 से 700000 रूपए तक का जुर्माना तथा 3 से 7 साल तक की सजा का प्रावधान है। अब यहां यह भी जान लेना जरूरी है कि विभाग में इन दिनों तेजतर्रार अधिकारी लोगों की सुरक्षा को लेकर पूरी तरह से गंभीर हैं।

खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारी सुनील शर्मा का कहना है कि फिलहाल मिठाइयों आदि के सैंपल लिए जा रहे हैं। जल्द ही अन्य खाद्य वस्तुओं की भी सघन तरीके से जांच कर सैंपल भरे जाएंगे। शनिवार को लिए गए सैंपलों के दौरान टीम में सुनील शर्मा के साथ सहायक सुरेंद्र व प्रदीप भी शामिल रहे।

काबिले गौर हो कि हाल ही में जिला सिरमौर खाद्य सुरक्षा विभाग के द्वारा नकली नमक को लेकर एक बड़े मॉल में सैंपलिंग की कार्यवाही को अंजाम दिया गया था। नकली नमक के पाए जाने के बाद से विभाग लगातार खाद्य वस्तुओं व पदार्थों की जांच को लेकर चौकन्ना बना हुआ है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो