वन विभाग की जांच में कांग्रेस नेता राजकुमार को मिली क्लीन चिट

विधायक व उनके परिवार की संपति की जांच सीबीआई से करवाए सरकार…राजकुमार

HNN / नाहन

पच्छाद कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजकुमार ठाकुर ने मंगलवार को मिडिया को जारी बयान में कहा है कि विधायक रीना कश्यप द्वारा उनके खिलाफ बिठाई गई वन विभाग की स्पेशल  जांच में वह और उनका परिवार  साफ व पाक निकले हैं। जिसमें विधायक रीना कश्यप के द्वेषपूर्ण एवं बदले की भावना से कार्य करने का पर्दाफाश हुआ है। इनका कहना है कि उनके द्वारा  ग्राम पंचायत नेरी कोटली से संबधित विभिन्न समस्याओं को उठाया गया था जोकि विधायक की गृह पंचायत भी है।

जिसके चलते रीना कश्यप द्वारा द्वेषपूर्ण भाव से  सरकार को अर्धसरकारी पत्र लिखकर वन विभाग से उनके घर की जांच करवाई गई कि उनके घर के निर्माण में अवैध लकड़ी लगाई गई है । इस जांच में वह कुंदन की तरह पाक साफ निकले हैं । गौर रहे कि बीते कुछ महीनों से नेरी कोटली की समस्याओं को लेकर विधायक व कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष के मध्य काफी जुबानी जंग छिड़ गई थी।

राजकुमार द्वारा पंचायत मे सचिव, पटवारी सहित अनेक रिक्त पदों बारे मिडिया के माध्यम से मुद्दे उठाया था जिसके चलते सरकार ने पंचायत सचिव की तैनाती कर दी है। राजकुमार ठाकुर ने सरकार से मांग की है कि विधायक व उनके ससुर की संपति की सीबीआई से जांच करवाई जाए जोकि उन्होने वन विभाग में सेवाकाल के दौरान अर्जित की है। इनका आरोप है कि विधायक के ससुर द्वारा वन विभाग में वन रक्षक व डिप्टी रेंजर के पद पर कार्य करते हुए करोड़ों की संपति अर्जित की गई है जोकि एक सामान्य तृतीय श्रेणी का कर्मचारी के लिएा संभव नहीं है।

राजकुमार का कहना है कि विपक्ष का कार्य जनहित के मुददे उठाना होता है और जिस प्रकार विधायक द्वारा अपने पद व सत्ता का निजी मामलों को लेकर  दुरूपयोग किया जा रहा है वह एक ओछी  राजनीति है।  इनका कहना है कि कांग्रेस सरकार के दौरान वह उनके ससुर की संपति की जांच करवा सकते थे परंतु कांग्रेस पार्टी कभी भी बदले की भावना से कार्य नहीं करती है।

राजकुमार ठाकुर का कहना है कि  पच्छाद में रीना कश्यप की इतनी दहशत पैदा कर दी है कि लोगो को अपने निजी घर बनाने के लिए विधायक व उनके परिवार वालो से अनुमिति लेनी पड़ेगी । राजकुमार ने रीना कश्यप को मिडिया के माध्यम से  अपनी सम्पति भी जनता के सामने सार्वजनिक करे ताकि लोगों को सच्चाई का आभास हो सके।  राजकुमार ठाकुर ने कहा कि विधायक व उनके ससुर की संपति की जांच के लिए वह पत्र लिखकर  हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल से मांग की जाएगी ।

उधर, पच्छाद की विधायक रीना कश्यप ने कहा है कि राजकुमार बौखलाहट में है। बौखलाहट में अनाप-शनाप बयानबाजी करने की आदत है। उन्होंने कहा कि उनके ससुर को लेकर के जो उन्होंने जांच की मांग की है उसके लिए वह पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि वह किसी अच्छी जांच एजेंसी से जांच करें ताकि उनके संदेह दूर हो सके। उन्होंने कहा कि उनके ससुर वन विभाग में ईमानदार अधिकारी रहे हैं। राजकुमार के तथ्यहीन बयानों को लेकर उनकी यह इच्छा भी पूरी हो जानी चाहिए।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो