व्याकरण की पढ़ाई में और सुधार करेगा प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड

HNN News/ धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड स्कूलों में व्याकरण की पढ़ाई में और सुधार करेगा। इसके तहत छठी से दसवीं कक्षा के व्याकरण पाठ्यक्रम में बदलाव किया जाएगा। साथ ही हर कक्षा के लिए अलग-अलग पाठ्य पुस्तक तैयार की जाएगी। हिंदी विषय में व्याकरण पुन: निर्धारित एवं अनुपुरक विषय में वैदिक संस्कृति नाम से विषय जोड़ने की योजना भी बनाई गई है।

स्कूल शिक्षा बोर्ड ने इसके लिए एक समिति का गठन कर दिया है। समिति व्याकरण के पाठ्यक्रम को तैयार करने के लिए पहले भाषा अध्यापकों की कार्यशालाओं को आयोजन करेगी। मौजूदा व्यवस्था में छठी से आठवीं तक और नौवी व दसवीं कक्षा की एक-एक ही व्याकरण पुस्तकें है। सोमवार को सीएंडवी शिक्षक संघ की बैठक बोर्ड अध्यक्ष डॉ सुरेश कुमार सोनी की अध्यक्षता में बोर्ड परिसर में हुई।

बैठक में कला विषय के पाठ्यक्रम के बदलाव को लेकर भी चर्चा की गई। इस मौके पर राजकीय सीएंडवी शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष चमन शर्मा, शिक्षा बोर्ड के विशेष सचिव दलजीत सिंह, संयुक्त सचिव विजय कौंडल, अतिरिक्त सचिव रेखा कपूर आदि मौजूद रहे।

Test