शक्तिपीठों में लगी भक्तों की कतारें, चढ़ रहा लाखों का चढ़ावा

HNN/ शिमला

हिमाचल प्रदेश में 7 अक्टूबर से शुरू हुए शारदीय नवरात्रों से लेकर अब तक बाहरी राज्यों सहित प्रदेशभर से लाखों श्रद्धालु प्रदेश के प्रसिद्ध शक्तिपीठों में नमस्तक हो चुके हैं। हिमाचल के विश्व प्रसिद्ध शक्तिपीठ श्रीनयनादेवी जी, छिन्नमस्तिका धाम चिंतपूर्णी, बज्रेश्वरी देवी, ज्वालाजी और नंदिकेश्वर धाम चामुंडा में प्रदेश सहित भारी राज्यों पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु शारदीय नवरात्र के उपलक्ष पर मां के दर्शनों को पहुंच रहे हैं।

भक्तों की आस्था का अंदेशा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कोविड-19 महामारी के इस दौर में भी भक्तों की आस्था जरा भी डगमगाई नहीं है। मां के दर पर पहुंचने वाले भक्त दिल खोलकर लाखों का चढ़ावा चढ़ा रहे हैं। इतना ही नहीं आज मंगलवार को सातवें नवरात्र के उपलक्ष पर भी सुबह से ही शक्तिपीठों में भक्तों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। इस दौरान शक्तिपीठ मां के जयकारों से गूंज उठे।

श्रद्धालु सुबह से ही लंबी-लंबी कतारों में लगकर अपनी बारी के आने का इंतजार कर रहे हैं। मंगलवार दोपहर तक प्रदेश के शक्तिपीठों में हजारों श्रद्धालु शीश नवा चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ शक्तिपीठों में श्रद्धालुओं की भीड़ को नियंत्रण में करने के लिए चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात किए गए हैं। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरे की मदद से भी श्रद्धालु की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

कोरोना को ध्यान मे रखते हुए मंदिरों को सैनिटाइज किया जा रहा है। मंदिर परिसर में जगह-जगह हैंड सैनिटाइज करने के लिए मशीनें लगाई गई है। बिना कोविड टेस्ट रिपोर्ट या वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र के आ रहे श्रद्धालुओं का मौके पर टेस्ट किया जा रहा है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो