शक्तिपीठ ज्वालामुखी में श्रद्धालुओं की घटी संख्या, 500 श्रद्धालु बिना दर्शन किए लौटे

HNN / काँगड़ा

हिमाचल प्रदेश में इन दिनों अष्टमी नवरात्र के चलते प्रसिद्ध शक्तिपीठों में श्रद्धालुओं की संख्या दिन प्रतिदिन गिरती जा रही है। इसका मुख्य कारण कोविड-19 रिपोर्ट ना होना है। बता दें कि करीब 500 श्रद्धालुओं को शक्तिपीठ ज्वालामुखी मंदिर में बिना दर्शन किए मायूस वापस लौटना पड़ा। बता दें कि मंदिर में जिन श्रद्धालुओं के पास वैक्सीनेशन प्रणाम पत्र या कोविड-19 रिपोर्ट है उन्हें ही माता के दर्शनों को मंदिर के भीतर भेजा जा रहा है।

जिसके चलते श्रद्धालुओं की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। बता दें कि दूसरे नवरात्र में ज्वालामुखी में माता के चरणों में भक्तों ने करीब 3 लाख 7 हजार 612 रुपए का नकद चढ़ावा अर्पित किया। इसके अलावा भक्तों ने 1 ग्राम 100 मिलीग्राम सोना, 20 डॉलर व 48 ग्राम चांदी माता के चरणों में अर्पित की। वहीं बाजारों में श्रद्धालुओं की रौनक दिन प्रतिदिन गायब होती जा रही है गिने-चुने श्रद्धालु ही बाजारों में नजर आ रहे हैं।

उधर शक्तिपीठ बृजेश्वरी मंदिर में तीसरे नवरात्र मेले के दौरान करीब 2000 श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन किए। चामुंडा मां के दरबार में भी करीब 900 श्रद्धालु नमस्तक हुए तो वही 60 श्रद्धालुओं को वापस भेज दिया गया।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो