शराब की जगह पी मार्का की बोतल बांटते तो शायद कुछ वोट पड़ जाते- एन के पन्डित

HNN/ मंडी

राहुल-प्रियंका गाँधी सेना कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सह मीडिया इन्चार्ज एन के पन्डित ने भाजपा को नसीहत देते हुए कहा कि अच्छा होता अगर भाजपा सरकार शराब की बोतल की जगह पी मार्का सरसों के तेल की बोतल बाँटते तो शायद कुछ वोट मिल जाते। क्योंकि आजकल अपनी रसोई में सब्ज़ी या दाल को तड़का लगाते वक्त महिलाएं जयराम और मोदी सरकार को खूब कोसती है और अपनी गाडी में पेट्रोल डलवाते वक्त पुरुष मोदी को खूब खरी-खोटी सुनाते है तथा अपनी फसल का सही दाम ना मिलने के कारण बागवान और किसान भी भाजपा सरकार को कोसने में कोई कसर नहीं छोड़ते।

नौकरी की तलाश में दर-दर ठोकरें खाने वाले बेरोजगार युवा और युवतियाँ तो सरकार को आईना दिखाने के मूड में तैयार बैठे है जिसका पता भाजपा सरकार को 2 नवंबर को शून्य पर आउट होने पर लग जायेगा। पन्डित ने कहा कि शराब, पैसे और गुंडागर्दी से भाजपा सरकार आखिर अपनी फजीहत करवाने पर क्यों तुली हुई है। अभी ताजा घटनाक्रम के अनुसार रामपुर में शराब की गाड़ियां पकड़ी और पिछले कल रात को संसारपुर टेरेस जिला काँगड़ा में उद्योग मन्त्री हिमाचल सरकार विक्रम ठाकुर के पीएसओ ने एसडीओ से मारपीट, गाली-गलौच और झगड़ा कर दिया।

आखिर सरकारी काम में ड्यूटी पर बाधा पहुँचाने के मामले में उस मन्त्री के पीएसओ पर पुलिस विभाग मामला दर्ज करें। क्योंकि वहाँ के एसडीओ का मेडिकल करवाने के बाद दिया ब्यान कार्यवाही करने पर सब से बड़ा प्रूफ है। एन के पन्डित ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा सरकार और उनके मंत्रियों की थानेदारी नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार अभी अपनी हार को सामने देखकर इतना डर गई। अभी तो उनकी सरकार और प्रशासन उनके साथ है सोचो जरा 2022 के चुनावों में भाजपा का क्या होगा, जब 68 सीट पर चुनाव होंगे और सरकार प्रशासन भी उनके अधीन नहीं होगा।

पन्डित ने कहा कि भाजपा अपनी हार को देखकर इतनी बौखला गई है कि पैसा, शराब और सरेआम गुंडागर्दी पर उतरने वाली भाजपा शून्य पर ही आउट होगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में सरकार चलाना अब भाजपा के बस से बाहर है। मुख्यमन्त्री सिर्फ विपक्ष को कोसने में व्यस्त है और दूसरी तरफ उनके वजीर मन्त्री सत्ता के नशे में इतने चूर है कि उनके उद्योग मन्त्री विक्रम ठाकुर का पीएसओ सरेआम एसडीओ पर रेस्ट हाउस में वीआईपी सेट को लेकर हमला कर देता है जो निंदनीय है। सरकारी काम में बाधा पहुंचाने की धारा के अनुसार मामला दर्ज करके कठोर करवाई की जाए।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो