शहर में डेंगू का कहर, आधा दर्जन मामले आए सामने

HNN News/ नाहन

शहर में डेंगू ने पांव पसार लिए हैं। आधा दर्जन मामले सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग तीन मामले सामने आने की बात कर रहा था। शहर के वार्ड नंबर एक स्थित रामकुंडी तालाब के आसपास के रिहायशी इलाकों में डेंगू फैला गया है। अभी तक आधा दर्जन के करीब लोग डेंगू का उपचार करवा चुके हैं।

हालांकि, अभी तक स्वास्थ्य विभाग ने बीमारी से निजात दिलाने के लिए यहां कोई जागरूकता शिविर जैसे कोई कार्यक्रम नहीं कराया है, न ही यहां कोई टीम भेजी है। लोगों ने गंदगी भरे तालाब में खड़े पानी में पनप रहे मच्छरों से डेंगू की आशंका को लेकर नप से जरूर शिकायत की थी। वीरवार को नप ने कर्मी को मौके पर भेजकर तालाब में दवाई का छिड़काव कराया।

रामकुंडी तालाब के आसपास रह रहे लोगों में अनिरूद्घ कुमारी पुंडीर, गाजेंद्र सिंह, राजकुमार आदि ने बताया कि तालाब बीमारियों का घर बना हुआ है। तालाब की सफाई न होने के कारण लोग परेशान हैं। पिछले कुछ दिन से लोग अस्पतालों का रूख कर रहे हैं। कई लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। मेडिकल कॉलेज नाहन में उपचार कराने के साथ साथ कइयों ने चंडीगढ़ में अपना इलाज कराया है।

अनिरूद्घ ने बताया कि उनकी 21 वर्षीय बेटी व्यापिनी पुंडीर में डेंगू के लक्षण पाए गए। चंडीगढ़ से इलाज कराने के बाद वह स्वस्थ है। इसके अलावा गाजेंद्र सिंह की पत्नी निर्मला तोमर, मामचंद तोमर व उनके बेटे सहित राजेंद्र की पुत्री, ईश्वर सिंह की पत्नी, हरिपाल आदि में डेंगू के लक्षण पाए गए। कई अस्पतालों से अपना उपचार कर भी लौट गए हैं।

उधर, मेडिकल कालेज नाहन के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. डीडी शर्मा ने बताया कि तीन मामले डेंगू के सामने आए हैं। जो मामले मेडिकल कालेज आए हैं, इसकी रिपोर्ट सीएमओ को भेजी गई है। सीएमओ डॉ. केके पराशर ने बताया कि अभी तक उनके पास 15 दिन पहले तक पहुंचे डेंगू के 15 मामलों का रिकार्ड ही उपलब्ध है। इनमें पांवटा साहिब में 12 और बाकी कालाअंब के हैं। नाहन से कोई ताजा मामला नहीं आया है।