संगड़ाह में लक्ष्मण रेखा के भीतर हुई खरीदारी

एसडीएम, तहसीलदार, डीएसपी व थाना प्रभारी ने बनाया सोशल डिस्टेंस

HNN News / संगड़ाह

उपमंडल मुख्यालय संगड़ाह में गुरुवार को कर्फ्यू में ढील मिलने के दौरान काफी संख्या में लोगों ने आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी की। इस दौरान दुकानों के बाहर एक मीटर के करीब सोशल डिस्टेंस मेंटेन रखने के लिए प्रशासन द्वारा बनाई गई लक्ष्मणरेखा के अंदर रहकर काफी लोगों ने खरीदारी की समझदारी दिखाई।

प्रधानमंत्री द्वारा 21 दिन के लाकडाउन की घोषणा के दौरान लक्ष्मणरेखा का जिक्र किए जाने से प्रेरित होकर एक होमगार्ड के जवान द्वारा लक्ष्मण रेखा की शुरुआत की गई। पहले हालांकि लक्षमण रेखा चौक से बनाई गई हैं, मगर एसडीएम द्वारा बाजार खाली होने पर पेंट से पक्की गोले बनाए जाने के निर्देश लोक निर्माण विभाग को दे दिए गए।

बाद में पुलिस कर्मियों द्वारा पेंट से मार्किंग का काम शुरू किया गया। गुरुवार को सुबह दस बजे दूध, सब्जी व खाद्य पदार्थों जैसी आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलते ही एसडीएम आईएएस राहुल कुमार, तहसीलदार आत्माराम नेगी, डीएसपी अनिल धौलटा तथा थाना प्रभारी जीतराम आदि अधिकारी बाजार में पंहुच गए।

पीसीआर वैन से बार-बार लोगों से दुकानों में भीड़ इकट्ठा न होने की अपील भी की जाती रही। बहाल दूरी बनाए रखने के लिए गई मार्किंग अथवा लक्ष्मणरेखा डिस्टेंस मेंटेन रखने में कारगर साबित हुई। इससे पूर्व संगड़ाह में बुधवार को राष्ट्रीय लाकडाउन के पहले दिन समय पर सूचना न मिलने से यहां आवश्यक वस्तुओं की दुकानें भी निर्धारित तीन घंटे के लिए भी नही खुली।

यहां कर्फ्यू के चलते पुलिस द्वारा केवल एसडीएम से अनुमति ले चुके निजी वाहनों तथा सरकारी गाड़ियों को ही आने-जाने दिया जा रहा है। रविवार को जनता कर्फ्यू के बाद से बाजार में बिना आवश्यक काम के खड़े लोगों को घर जाने के निर्देश दिए जा रहे हैं तथा बिना जरूरी काम के चल रहे वाहनों की आवाजाही भी बंद करवाई गई।

एसडीएम संगड़ाह राहुल कुमार ने कहा कि, खाद्य पदार्थों व अन्य आवश्यक वस्तुओं की दुकानें तय समय तक खुलेगी, जबकि दवाइयों की दुकानें लगातार खुली रहेगी। उन्होंने कहा कि, तालाबंदी के दौरान आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने क्षेत्रवासियों से अपील की कि, लाकडाउन में छूट के दौरान सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखें।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।