कोरोना वैक्सीन को लेकर भाजपा द्वारा की जा रही राजनीति शर्मनाक-राठौर

HNN / शिमला

भाजपा में मुख्यमंत्री को उनके ही मंत्री-संतरी नेता नहीं मानते हैं। आंतरिक सत्तासंघर्ष इस कदर हावी है कि कई बड़े भाजपा नेता दरकिनार कर दिए गए हैं। चारों उपचुनावों में जहां कांग्रेस एकजुटता के साथ चुनाव में उतरी है वहीं भाजपा के बागी उम्मीदवार भाजपा की ही एकता की पोल खोल रहे हैं। यह पलटवार हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने भाजपा पर किया। 

उन्होंने कहा कि भाजपा चुनावों में जनहित के मुद्दों से भाग कर जनता का ध्यान बांटने की नाकाम कोशिश कर रही है। जबकि जनता भाजपा से महंगाई,बेरोजगारी की समस्या पर जबाब चाहती है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि 100 करोड़ कोरोना वैक्सीन लगाए जाने पर सरकार झूठा श्रेय ले रही है। इसका श्रेय देश के वैज्ञानिकों और लाखों स्वास्थ्य कर्मियों को जाता है जिनके प्रयासों से यह सम्भव हो पाया है। उन्होंने कहा कि भाजपा वैक्सीनेशन पर जिस तरह झूठा श्रेय ले रही है। 

करोड़ों रुपए के विज्ञापन खर्च कर अपनी पीठ थपथपा रही है, यह न केवल दुर्भाग्यपूर्ण है बल्कि शर्मनाक भी है। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन जनता का अधिकार है, यह कोई खैरात नहीं है। उन्होनें कहा कि कोरोना संकटकाल में भाजपा की भूमिका शून्य रही है। सरकार ने मात्र  इस संकट में लूट का अवसर ढूंढते हुए भृष्टाचार के अलावा कुछ भी सकारात्मक भूमिका नहीं निभाई।

राठौर ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में पोलियो, हैजा, प्लेग,टीवी उन्मूलन के लिए वैक्सीनेशन के अभियान सफलतापूर्वक चलाए गए लेकिन कभी भी इन वैक्सीनेशन अभियानों का राजनैतिक लाभ प्राप्त नहीं किया। लेकिन दूसरी ओर भाजपा सरकार इन सामाजिक अभियानों का भी श्रेय लेने का प्रयास कर रही है, यह निन्दाजनक है।कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि सरकार जनहित की मूलभूत आवश्यकताओं के प्रति गम्भीर नहीं है और मात्र विज्ञापन सरकार बन कर रह गई है ।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो