सत्त विकास सूचकांक में नेतृत्व करना हिमाचल प्रदेश की बड़ी उपलब्धिः जय राम ठाकुर

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने प्रसन्नता जाहिर की है कि नीति आयोग द्वारा जारी राज्य रेंकिंग में राष्ट्रीय संघ सत्त विकास लक्ष्यों को हासिल करने में हिमाचल प्रदेश केरल तथा तमिलनाडु के साथ अग्रणी राज्य के रूप में उभकर सामने आया है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को स्वच्छ जल प्रदान करने तथा स्वच्छता बनाने, असमानताओं में कमी करने तथा पर्वतीय पारिस्थितिकी का संरक्षण करने में उच्च स्थान प्रदान किया गया है।

मुख्यमंत्री कहा कि यह राज्य के लोगों की सक्रिय सहभागिता व सहयोग के कारण सम्भव हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपने नागरिकों को सर्वश्रेष्ठ बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है, जिसके लिए हर सम्भव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को प्रकृति ने अपार प्राकृतिक सौन्दर्य से नवाजा है और राज्य सरकार इस बहुमूल्य पर्यावरण और पारिस्थितिकी के संरक्षण के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है।

भारत में रिपोर्ट राष्ट्रीय संघ के सहयोग से तैयार की गई है, जिसमें राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों की प्रगति के आंकलन के उद्देश्य से भारतीय सूचकांक में सूचीबद्ध किया है।

सूचकांक में 17 सत्त विकास लक्ष्यों में से 13 को शामिल किया गया है, जिनमें स्वास्थ्य देखभाल, लिंग समानता, स्वच्छ ऊर्जा, अधोसंरचना, शिक्षा, शान्ति और मजबूत निर्माण, जवाबदेह संस्थान शामिल हैं। सूचकांक में प्रत्येक राज्य तथा केन्द्र शासित प्रदेशों का 17 में से 13 सत्त विकास लक्ष्यों के कुल प्रदर्शन का आंकलन किया गया है। राज्यों में हिमाचल प्रदेश और केरल में 69 के सत्त विकास लक्ष्य सहित भारतीय सूचकांक स्कोर के साथ अग्रणी स्थान पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *