सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण- डॉ. सैजल

HNN News/ सोलन

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि विद्यालय स्तर पर प्रदान की जाने वाली शिक्षा छात्रों के सर्वांगीण विकास के साथ-साथ उन्हें जीवन के लक्ष्य भी प्रदान करती है। डॉ. सैजल गत सांय सोलन जिला के कसौली स्थित सैंट मैरी कॉनवैंट स्कूल के 61वें वार्षिक समारोह ‘कनकोर्डिया-2019’ को सम्बोधित कर रहे थे।

डॉ. सैजल ने कहा कि पाठशाला स्तर पर जहां अध्यापक बच्चों को शिक्षा के माध्यम से जीवन में आगे बढ़ना और संघर्ष करना सिखाते हैं वहीं उनके व्यक्तित्व को निखारते हैं। उन्होंने कहा कि अपने माता-पिता और गुरूजनों के सान्निधय में ही बच्चे देश के होनहार एवं उत्तरदायी नागरिक बनते हैं। उन्होंने कहा कि अध्यापक एक कुम्हार की तरह छात्र को आकार देता है।

उन्होंने अध्यापकों से आग्रह किया कि छात्रों को देश के महापुरूषों की जीवनी और संघर्ष की जानकारी दें ताकि युवा अनुशासन, समर्पण एवं स्वाभिमान जैसे नैसर्गिक गुणों को आत्मसात कर सकें। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि बच्चों को जिम्मेदार नागरिक बनाने के लिए हम सभी को अपने उत्तरदायित्व का उचित निर्वहन करना होगा।

उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए प्रथम आदर्श अभिभावक तथा अध्यापक होते हैं। अभिभावकों तथा अध्यापकों को आदर्श प्रस्तुत करना चाहिए ताकि युवा उनसे प्रेरणा प्राप्त कर सकें। डॉ. सैजल ने कहा कि युवा पीढ़ी को स्वच्छ एवं भयरहित वातावरण प्रदान करना समाज की सामूहिक जिम्मेदारी है। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि नशे से युवा पीढ़ी को बचाने के लिए एकजुट प्रयास करें।

उन्होंने देश तथा प्रदेश को स्वच्छ रखने का संकल्प लेने का आह्वान भी किया।सहकारिता मंत्री ने कहा कि युवा पीढ़ी को देश एवं प्रदेश की समृद्ध संस्कृति का परिचय दिया जाना भी आवश्यक है।

देश एवं प्रदेश के विकास के लिए इतिहास एवं संस्कृति का उचित ज्ञान छात्रों को दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे संस्कारों और रीति-रिवाजोें का आधार विशुद्ध वैज्ञानिक है और इस दिशा में युवाओं का मार्गदर्शन आवश्यक है।

डॉ. सैजल ने आशा जताई कि विद्यालय भविष्य में भी छात्रों को श्रेष्ठ शिक्षा प्रदान करता रहेगा। सहकारिता मंत्री ने कहा कि वार्षिकोत्सव विद्यार्थियों द्वारा वर्षभर में किए गए परिश्रम, प्रशिक्षण और प्रतिभा के प्रदर्शन का मंच होता है। उन्होंने विद्यार्थियों को उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं और आशा जताई कि सभी विद्यार्थी अपने लक्ष्य की ओर निरंतर अग्रसर रहेंगे।

उन्होंने छात्रों द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रम की सराहना की। उन्होंने कहा कि स्वच्छता जैसे समसामायिक विषय पर प्रस्तुत कार्यक्रम से सभी को सीख लेनी चाहिए। उन्होंने स्कुल को अपनी एच्छिक निधि से 50,000 रुपए प्रदान करने की घोषणा भी की। डॉ. सैजल ने विद्यालय के मेधावी छात्रों को सम्मानित भी किया।

सैंट मैरी कॉनवैंट स्कूल की प्रधानाचार्य सिस्टर साल्वी ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया और विद्यालय की गतिविधियों की विस्तृत जानकारी प्रदान की। जुवेनाईल जस्टिस बोर्ड के सदस्य एवं वरिष्ठ भाजपा नेता राजकुमार सिंगला, डिप्टी कमाडेंट (स्टाफ) यशदीप, तहसीलदार कसौली कपिल तोमर सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति, अध्यापक, छात्र तथा अभिभावक इस अवसर पर उपस्थित थे।