सिरमौर की सभी पंचायतों में पानी की गुणवता जांचने के लिए महिलाओं को…

HNN / नाहन

सिरमौर जिला की सभी पंचायतों में पानी की गुणवता को जांचने के लिए इच्छुक महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि ग्राम स्तर पर महिलाएं पीने के पानी को जांचने योग्य हो जाए  इसके लिए महिलाओं को उपकरण के इस्तेमाल के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम ने जल शक्ति विभाग द्वारा आयोजित जल जीवन मिशन की समीक्षा बैठक के दौरान दी। उन्होंने बैठक के दौरान सभी विभागों को आदेश दिया कि जिला में बनने वाले सभी सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग टैंक बनाना सुनिश्चित करे।

उन्होंने बताया कि जिला के सभी स्कूलों में वाटर हार्वेस्टिंग टैंक बनाने का प्रस्ताव दिया गया था, जिसमें से जिला में 127 स्कूलों में वाटर हार्वेस्टिंग टैंक बन चुके है जो कि 10 लाख 47 हजार 400 लीटर पानी संचयन करने की क्षमता रखता है। इसके अतिरिक्त आगामी दिनों में लगभग 116 स्कूलों मे भी वाटर हार्वेस्टिंग टैंक का कार्य पूरा हो जाएगा जिससे लगभग 50 लाख लीटर पानी का संचयन किया जाएगा।

उपायुक्त ने बताया कि जल शक्ति विभाग द्वारा हाल ही में जिला के 881 पानी उद्गम स्थलों में स्वच्छता सर्वे किया और जिला से लगभग 3,274 सैम्पलों को लैब में टेस्टिंग के लिए भेजा गया है। उन्होंने जल शक्ति विभाग को जिला में जल संचयन और पानी को स्वच्छ बनाए रखने के लिए लोगों को जागरुक करने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए।

उन्होंने वन विभाग, जल शक्ति विभाग व ग्रामीण विभाग को आगामी 2 वर्षो के लिए विज़न दस्तावेज प्रस्तुत करने के निर्देश दिए जिसमें तीनों विभाग जिला में पानी के नालों में चेकडेम बनाना व बांवडियों को संरक्षित करने की कार्य योजना का उल्लेख करे ताकि जिला में खण्ड स्तर पर सभी पानी के उदगम स्थलों व नालो मे दो या तीन चेकडेम बनाकर पानी का संचयन किया जा सके जिसका  प्रयोंग बरसात के बाद भी पीने व अन्य कार्यो के लिए इस्तेमाल किया जा सके।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो