सिरमौर के कोटगांव नैहरस्वार का लाल पंजाब रेजिमेंट में बना प्लाटून कमांडर, तो पिता हुए सेवानिवृत्त

कोटगांव नैहरस्वार के इस परिवार की 5 पीढ़ियां रही देशसेवा को समर्पित, रविवार को सेवानिवृत्ति और बेटे की तरक्की पर जश्न में डूबा नैहरस्वार का कोटगाव

HNN News/ नाहन

हिमाचल प्रदेश देवभूमि के साथ साथ वीरभूमि भी कहलाती है जिसमे देश सेवा के लिए जिला सिरमौर भी अग्रणी रहा है। इसी क्रम को लगातार जारी रखते हुए श्री रेणुकाजी विधानसभा क्षेत्र के अंतरगर्त नैहरस्वार पंचायत के कोटगांव में रविवार को क्षमा नन्द शर्मा 26 साल 30 पंजाब रेजिमेंट में सेवा करने के बाद नायब सूबेदार से सेवानिवृत्त होकर अपने घर लौटे। उनकी घर वापसी पर कोटगांव में एक बड़े जश्न का भी आयोजन हुआ।

यह जश्न अकेले नायब सूबेदार क्षमा नन्द की सेवानिवृत्ति का तो था ही साथ ही इस जश्न में उनके बेटे गौरव शर्मा की भी बड़ी उपलब्धि जुडी है क्योंकि कल रविवार को ही इनके बेटे गौरव शर्मा ने झारखण्ड के रामगढ़ में अपनी ट्रेनिंग पूरी करने के बाद कसम प्रेयर भी निभाई है। यही वजह है कि वह अपने पिता के सेवानिवृत्ति समारोह में उपस्थित नहीं हो पाए।

उपप्रधान सुरेश शर्मा सेवानिवृत्त सूबेदार क्षमा नन्द के साथ

बड़ी बात तो यह है कि सिरमौर के इस जवान को बेस्ट कैडेट के साथ अपनी प्लाटून का कमांडर भी बनाया गया है। इसलिए, इस परिवार की ख़ुशी दोगुनी मानी गई है।

यहाँ यह भी बताना जरूरी है कि इस परिवार की 5 पीढ़ियां लगातार देशसेवा को समर्पित रहीं हैं तो अब बेटा पंजाब रेजिमेंट में अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हो चूका है।

5 पीढ़ियों में गीता राम शर्मा ने 1961 और 1965 की लड़ाई भी लड़ी है। इनके भतीजे सूबेदार सत्यपाल ने 18 डोगरा में अपनी सेवाएं दी है।

सत्यपाल के पुत्र क्षमानन्द जो की गौरव शर्मा के पिता है जिनकी घर वापसी पर रविवार को एक बड़े समारोह के साथ प्रीतिभोज का भी आयोजन किया गया।

इस प्रीतिभोज में बतौर मुख्यातिथि शिमला ग्रामीण क्षेत्र के विधायक विक्रमादित्य सिंह, पूर्व CPS व विधायक श्री रेणुकाजी, विनय कुमार, जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय सोलंकी, मंडल अध्यक्ष तपेंद्र सिंह प्रदेश युवा कांग्रेस नेता OP ठाकुर, सैनधार जोन के अध्यक्ष बाबूराम, नौणी पंचायत के प्रधान नरेश चौहान , पूर्व प्रधान नैहरस्वार राजेंदर ठाकुर, जबरसिंह चौहान, मित्तरसिंह तोमर सहित सैंकड़ो की तादात में विभिन्न गांव के लोग उपस्थित रहे।

तो वहीं इस पूरे सम्मान कार्यक्रम की रूप रेखा व मंच संचालन स्थानीय पंचायत के उप प्रधान सुरेश शर्मा द्वारा की गई थी। सुरेश शर्मा सेवानिवृत्त हुए क्षमा नन्द के चाचा भी है।