सिरमौर के दुर्गम क्षेत्र में नही थम रहा नाबालिग बेटियों की शादियों का सिलसिला

minor girl marriage

एचएनएन न्यूज। नाहन

सिरमौर के दुर्गम क्षेत्र में नाबालिग बेटियों की शादियों का सिलसिला नहीं थम रहा है। इसमें भी कोई अतिश्योक्ति नहीं है कि सब कुछ परिवारों की अज्ञानता की वजह से ही चल रहा है। हालांकि कुछ मामलों में बेमेल शादियों की खबरें भी आती रही है। लेकिन अब पुलिस पूरी संजीदगी से इस दिशा में भी कार्य कर रही है। यही कारण है कि पुलिस ने अलग.अलग जगहों से मिली शिकायतों के आधार पर बाल विवाह के चार मामले दर्ज किए हैं।

कुछ समय पहले नाबालिग युवतियों के गर्भवती होने की भी खबरें आ रही थी। लिहाजा अब पुलिस इस बात पर भी जांच केंद्रित करेगी कि क्या शादियों के बाद नाबालिग लड़कियां गर्भवती हुई थी या नहीं। पहला मामलाए शिलाई थाना से जुड़ा हुआ है। इसके मुताबिक टिम्बी के रहने वाले संदीप कुमार पुत्र जीत सिंह का विवाह 18 साल से कम उम्र की लडकी से हुआ। आईसीडीएस शिलाई की सुपरवाइजर गीता देवी की शिकायत पर पुलिस ने बाल विवाह अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। नाबालिग की शादी 19 जुलाई 2017 को होने की बात कही गई।

गीता देवी की ही शिकायत पर बाल विवाह का दूसरा मामला दर्ज हुआ है। इस मामले में टिम्बी के ही जिमटवाड़ गांव केे कपिल की शादी 19 जून 2017 को नाबालिग से हुई थी। तीसरा मामला चाइल्ड हेल्पलाइन की समन्वयक सुमित्रा शर्मा की शिकायत पर नाहन में दर्ज हुआ है। इसके मुताबिक 10 मई 2018 को हुई शादी में दूल्हा-दुल्हन नाबालिग थे। दूल्हा कमरऊ के टटियाणा गांव का रहने वाला है। चौथा मुकदमा शिलाई में आईसीडीएस की गीता देवी की शिकायत पर दर्ज कर लिया गया है। इसके मुताबिक नाबालिग लडकी की शादी टिम्बी के जिमटवाड़ के रहने वाले रणदीप से 22 जुलाई 2017 को हुई थी।

उधर एसपी रोहित मालपानी ने पुष्टि करते हुए कहा कि बाल विवाह अधिनियम के तहत दर्ज चारों मामलों में गहनता से जांच की जाएगी। साथ ही यह भी पता लगाया जाएगा कि नाबालिग लड़कियां गर्भवती हुई थी या नहीं। जांच में यह भी सामने आएगा कि किसी नाबालिग ने शिशु को जन्म दिया है या नहीं।

हिमाचल नॉउ न्यूज

Test

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *