सिरमौर में चालू वित्त वर्ष के दौरान विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं पर व्यय होगें 63 करोड़- सुखराम चौधरी

HNN/ नाहन

जिला सिरमौर में अनुसचित जाति, अन्य पिछडा वर्ग, अल्पसंख्यकों, दिव्यांगो, एकल नारियों, विधवाओं, कुष्ठ रोगी तथा वृद्वजनों के कल्याणार्थ में वित वर्ष 2021-22 के दौरान विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं में 63 करोड़ रुपये व्यय किए जाएंगे। यह जानकारी ऊर्जा मंत्री एवं अध्यक्ष जिला कल्याण समिति सुखराम चौधरी ने उपायुक्त कार्यालय के बचत भवन में आयोजित जिला कल्याण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

 इस बैठक में वित वर्ष 2021-22 में समिति द्वारा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं में व्यय की जाने वाली राशि का अनुमोदन किया गया। उन्होंने बताया कि वित वर्ष 2021-22 में गृह निर्माण अनुदान योजना के अतंर्गत अनुसूचित जाति के लिए 3 करोड़ 54 लाख, अनुसूचित जन जाति के लिए 6 लाख व अन्य पिछडा वर्ग के लिए 24 लाख रूपये का प्रावधान है। उन्होंने अधिकारियों को इस योजना के तहत एक मिशन के रूप में कार्य करने के निर्देश दिये ताकि जिला का कोई भी व्यक्ति आवासहीन न रहे।

इसके अतिरिक्त अनुवर्ती कार्यक्रम योजना के अंतर्गत जिला में अनुसूचित जाति के लिए 6 लाख 62 हजार रुपये व्यय कर 368 लाभार्थियों व अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 3 लाख 49 हजार व्यय कर 194 लाभार्थियों को सिलाई मशीनें प्रदान की गई। अनुवर्ती कार्यक्रम के अंतर्गत 610 लाभार्थियों पर 11 लाख रुपये की राशि व्यय की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला सिरमौर में चालू वित वर्ष के दौरान अक्तूबर, 2021 तक सामाजिक सुरक्षा पैंशन योजना के अतंर्गत  40643 लोगों को पैंशन प्रदान की गई, जिस पर 45 करोड़ की राशी व्यय की गई।

उन्होने बताया कि गत वित वर्ष के दौरान जिला के 38 हजार 279 पात्र लोगों को सामाजिक सुरक्षा पैंशन पर 53 करोड रूपये की राशि वितरित की गई। उन्होेंने बताया कि स्वर्ण जयन्ती आश्रय योजना के अंतर्गत 107 लाभार्थियों पर 1 करोड 67 लाख रूप्ये की राशि व्यय की जाएगी। इसके अतिरिक्त अंतरजातीय विवाह योजना के अंतर्गत 50 लाभार्थियों पर 25 लाख रुपये की राशि व्यय की जाएगी। उन्होंने बताया कि अपंग विवाह योजना के अंतर्गत 3 लाख रुपये राशि व्यय की जाएगी।

कंप्यूटर एप्लीकेशन योजना के अंतर्गत गत वर्ष 15 लाख की राशि व्यय की जा चुकी है तथा चालू वित्त वर्ष के दौरान 14 लाख की राशि व्यय की जाएगी, जिसके तहत प्रति लाभार्थी को एक हजार रुपये प्रतिमाह वजीफा देने का प्रावधान है। इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत जिला सिरमौर के 14 चिन्हित गाँव पर 20 लाख प्रति गांव विकास योजनाओं पर व्यय किए जाएगे।

इसके पश्चात सुखराम चौधरी ने अनुसूचित जाति विकास कार्यक्रम की बैठक के दौरान कहा कि इस कार्यक्रम के तहत पर्याप्त धन सरकार द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है जिसके लिए अधिकारी योजनाओं को समयबद्ध, लक्ष्य निर्धारित कर पूरी पारदर्शिता के साथ इन्हे पूरा करना सुनिश्चित करें ताकि लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि जिन विकास कार्यो के लिए अतिरिक्त धन की आवश्यकता हो उसके लिए भी समय रहते धन की मांग करें ताकि विकास कार्य बाधित न हो।

उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति विकास कार्यक्रम में राज्य योजना के तहत विभिन्न विभागों को वित्त वर्ष 2021-22 में 82 करोड से अधिक की राशि उपलब्ध करवाई गई है जिसमें से उन्होंने 20 करोड़ व्यय कर 23.69 प्रतिशत की उपलब्धि हासिल की है। इसी प्रकार विशेष केंद्रीय सहायता के तहत विभिन्न विभागों को 54.29 लाख उपलब्ध करवाए गए जिसमें से उन्होंने 9 लाख व्यय कर 16.14 प्रतिशत की उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वह आवश्यकता अनुसार कार्य योजना बनाए ताकि धन की बर्बादी से बचा जा सके।

उन्होंने जल शक्ति विभाग को सरकार द्वारा चलाए जा रहे जल जीवन मिशन के अंतर्गत हर घर को नल से जल उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। इसके अतिरिक्त उन्होंने विभाग को समय-समय पर मशीनरी की मुरम्मत करवाना सुनिश्चित करने को कहा ताकि पेयजल और सिंचाई योजनाए सुचारू रूप से चल सकें। उन्होंने अधिकारियों को सम्बन्धित विधायकों से भी समन्वय स्थापित कर कार्य योजनाए बनाने के निर्देश दिए।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो