सीआरपीएफ कैंप धर्मपुर में दशहरे पर जबरदस्त रही सांस्कृतिक संध्या

बिना टिकट ट्रेन का सफर ड्रामा और जवानों की दिलकश प्रस्तुतियों ने जमकर लूटी वाहवाही

HNN News सोलन धर्मपुर
सीआरपीएफ कैम्प धर्मपुर में दशहरा पर्व के उपलक्ष्य में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया। संध्या में प्रिंसिपल कमांडेंट सीआरपीएफ धर्मपुर नवीन कुमार ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की जबकि डिप्टी कमांडेंट जितेंद्र कुमार विशेष रूप से मौजूद रहे।

इस अवसर पर ट्रेनी जवानों ने विभिन्न कार्यक्रम पेश किए। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना से हुई। उसके पश्चात जवानों ने जहां एक से बढ़कर एक रंगारंग प्रस्तुतियां दी वहीं योगा के करतब विभिन्न आसन के माध्यम से ऐसे पेश किए की पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

कार्यक्रम में सबसे आकर्षक ट्रेन के सफर पर आधारित ट्रेन ड्रामा रहा। इसमे जवानों ने बिना टिकट ट्रेन के सफर को ऐसे दर्शाया मानो हकीकत में ट्रेन का सफर चल रहा हो। इसमे चाय वाले, भिखारी व किन्नर का किरदार निभा रहे जन्मजय समल ने जब ‘चाय’ ‘चाय’ ‘चाय’ और ‘अरे बाबू’, ‘अरे बाबू’ जैसे डायलॉग बोले तो हॉल में हंसी के खूब ठहाके लगे।

तत्पश्चात तमिलनाडु, आसाम और मनीपुर के तीन जवानों ने कम्बाइंड वेस्टर्न डांस की शानदार प्रस्तुति दी। कार्यक्रम के अंत मे जवानों ने भांगड़ा पेश कर सबका मन मोह लिया। मंच का संचालन सतीश चंद औऱ मुकेश कुमार ने किया।

मुख्यातिथि प्रिंसिपल कमांडेंट सीआरपीएफ नवीन कुमार ने कहा की जवानों के प्रशिक्षण के दौरान इस तरह के कार्यक्रम रूटीन का हिस्सा है। ऐसे कार्यक्रम का मकसद जवानों का स्टेज फीयर दूर करना है। साथ ही योगा व डांस जहां फिटनेस का हिस्सा है वही प्ले व नाटक मनोरंजन के रूप में जवानों के स्ट्रेस को कम करता है।

उन्होंने जवानों की योगा की प्रस्तुति को सराहा। साथ ही उन्होंने जवानों को बेहतरीन अभिनय करने पर खुश होकर नकद राशि देकर सम्मानित किया। डिप्टी कमांडेंट जितेंद्र कुमार ने बताया कि जवानों को रिलैक्स फ्री जीवन के लिए हर दूसरे माह इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। इस अवसर पर कई गणमान्य व जवानों के परिवार मौजूद रहे।