सीमाएं खुलते ही प्रदेश में बाहरी राज्यों से पहले ही दिन हजारों लोगों ने किया प्रवेश

HNN / शिमला

 कैबिनेट बैठक में हिमाचल प्रदेश के बॉर्डर खोलने का निर्णय लिया गया। जिसके बाद हजारों की संख्या में लोग हिमाचल का रुख करने यहां पहुंच रहे हैं। हालांकि लोगों को पहले ई-पास और कोरोना रिपोर्ट के साथ ही हिमाचल में एंट्री दी जाती थी परंतु कैबिनेट बैठक ने बिना ई-पास और बिना कोरोना रिपोर्ट के ही अब हिमाचल में लोगों को एंट्री देने का फैसला लिया है।

पहले दिन कालाअंब और पावंटा साहिब दोनों बैरियर पर करीब 1100 वाहनों का पंजीकरण हुआ है। इनमें से 600 पावंटा साहिब जबकि 500 वाहन कालाअंब से प्रदेश की सीमा में दाखिल हुए हैं। कोरोना हाइलोड सिटी से हिमाचल आने वाले लोगों और सैलानियों को क्वारंटीन नहीं किया जाएगा। अगर किसी को लगे की उन्हें बुखार, जुकाम और कोरोना के लक्षण हैं। ऐसी स्थिति में व्यक्ति अस्पताल आकर अपना उपचार करा सकेगा। तभी मरीज का कोरोना टेस्ट होगा।

पॉजिटिव आने पर व्यक्ति को कोविड सेंटर उपचार को भेजा जाएगा। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आरडी धीमान ने कहा कि कोरोना को लेकर प्रदेश व्यापी अभियान चलाया जाएगा। इसमें लोगों को बीमारी के प्रति जागरूक किया जाएगा। वही, हिमाचल के इस तरह से बॉर्डर खोल दिए जाने से कोरोना का खतरा और अधिक बढ़ गया है। आगामी दिनों में हिमाचल में कोरोना और तेजी से रफ्तार पकड़ने वाला है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो