सेना की अराध्य शक्ति के जय घोष से शुरू हुआ सैनिक सम्मेलन

4 जीआर के पुनर्मिलन समारोह में लगाया मीना बाजार,नेपाली भाषा में ही हरि सुमिरण की बही गंगा

HNN News सोलनसुबाथू

14 जीटीसी में चल रहे फोर जीआर के पुनर्मिलन समारोह के दूसरे दिन बुधवार को सेना की अराध्य शक्ति माता दुर्गा मंदिर में पूजा अर्चना का कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान सम्मेलन में आए दूर दराज से सेवा निवृत सैनिकों सहित सेना के बड़े अधिकारी भी मौजूद रहे।

14 जीटीसी के सैनिकों ने मंदिर में उपस्थित सभी अतिथियों को नेपाली भाषा में ही हरि सुमिरण का रसपान करवाया। इस दौरान फोर जीआर के कर्नल आफ रेजिमेंट ने दुर्गा माता की आरती के साथ माता के चरणों में शीश झुकाया।


पूजा अर्चना के बाद एक बार फिर से सभी पूर्व सैनिक व सेना अधिकारी स्लारिया स्टेड़ियम में एकत्रित हुए। 14 जीटीसी ने आए हुए सभी अतिथियों के मनोरंजन के लिए सेना मैदान में पागल जीमखाना सहित विभिन्न तरह के खेलों का इंतजाम किया हुआ था।

सेना मैदान में खाने पीने के सामान सहित विभिन्न तरह की प्रदर्शनी लगाई गई। इस दौरान, हाथ से पेंटिंग कर रही बालिका की पेंटिंग सबसे ज्यादा आर्कषण का केंद्र बनी रही। सेना अधिकारी ने बताया की सेंटर की परंपरा के अनुसार प्रत्येक चार वर्ष के बाद सेना सम्मेलन का आयोजन होता है। जिसमें सभी पूर्व सैनिक एकत्रित होकर पुरानी यादे ताजा करते है।

वीर नारियों को भी मिला सम्मान

सैनिक सम्मेलन के दौरान वतन पर प्राण नौछावर करने वाले देश के रियल हीरों की वीर नारियों को भी प्रथम महिला रेजिमेंट डाॅ. लतिका साहनी ने सम्मानित किया।

वीर नारी हेम कुमारी प्रधान को उनके स्व पति अजीत प्रधान के आप्रेशन रक्षक में देश की रक्षा के दौरान शहीद होने पर सम्मान मिला।

वही धन कुमारी थापा को उनके स्व पति यम बहादुर थापा के आप्रेशन आर्चिड के दौरान देश की रक्षा के लिए दुश्मनों से लौहा लेते हुए अपने प्राण नौछावर करने पर सम्मान मिला।