सोलन महाव्यापार मंडल और छोटू भी! फिर भी भाजपा हाईकमान चुप

असंवैधानिक महा व्यापार मंडल पर प्रशासन कार्यवाही करने में आखिर क्यों चुप

HNN News सोलन

सोलन जिला का महा व्यापार मंडल आने वाले दिनों में भाजपा के लिए गले की फांस बनने जा रहा है। व्यापार मंडल बनाम महा व्यापार मंडल दोनों में भाजपा के नेताओं का वर्चस्व है। आपसी जंग में जहां व्यापार मंडल संवैधानिक सिद्धांतों पर कार्य कर रहा है तो वही असंवैधानिक तौर पर व्यापार मंडल पर कब्जा जमाने के लिए महा व्यापार मंडल नए नए पैंतरे आजमा रहा है।

मजे की बात तो यह है कि इस महा व्यापार मंडल को 20% व्यापारियों का समर्थन भी नहीं है बावजूद इसके एक प्रशासनिक डॉक्यूमेंट के शब्दों को हेरफेर कर महा व्यापार मंडल से जुड़े स्वयंभू नेता राजनीतिक जमीन तलाश रहे हैं। बड़ी बात तो यह है कि इस खेल में एक ऐसा व्यक्ति भी शामिल है जो सोलन के हाल ही में चर्चित जमीन घोटाले में सीधे सीधे जुड़ा हुआ है।

हैरान कर देने वाली बात तो यह भी है कि भाजपा के एक प्रमुख नेता पिछले चुनाव में हारने के बाद भी सबक ना लेते हुए ऐसे कार्य कर रहे हैं जो कि भाजपा संगठन के खिलाफ जा रहे हैं।
हालांकि प्रदेश भाजपा हाईकमान से इस मामले की शिकायत भी की जा चुकी है परंतु अभी तक हाईकमान ठोस कार्यवाही करने में नाकाम रहा है।

बड़ी बात तो यह है कि यदि इस राजनीतिक षड्यंत्र को प्रदेश भाजपा हाईकमान ने समय रहते कंट्रोल नहीं किया तो संभवत यह एक बड़ा डैमेज होगा जिसको कंट्रोल करना बड़ा मुश्किल साबित होगा। सवाल तो यहां एसडीएम कार्यालय की कार्यप्रणाली पर भी उठ रहा है कि अभी तक उनके द्वारा इस महा व्यापार मंडल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं की गई है। जबकि असंवैधानिक तौर पर व्यापार मंडल को हाईजैक करने की कोशिश को लेकर सोलन के व्यापारी वर्ग में कड़ा रोष भी है।

कोविड-19 काल की विषम परिस्थितियों में सोलन का व्यापार मंडल प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहा। यही नहीं सरकार के द्वारा जारी की जाने वाली तमाम सूचनाओं अधिक सूचनाओं को प्रभावी बनाने में भी व्यापार मंडल के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की भूमिका अहम रही है।

एक बेहतर कार्य के लिए सोलन के तमाम व्यापारियों को प्रशंसा का पात्र भी बनाया गया था। बावजूद इसके केवल बदले की भावना से बनाए जाने वाले इस महा व्यापार मंडल के आधार पर अब सोलन मैं भाजपा पहले से ज्यादा बैकफुट पर आने की तैयारी में है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो