हिमाचल प्रदेश में इंस्पेक्टर मर्जी से नहीं मार सकेंगे छापा

HNN News/ शिमला

हिमाचल में अब इंस्पेक्टरी राज पर नकेल डाल दी गई है। अब कही भी मनमर्जी से छापे नहीं पड़ेंगे। इसके लिए कॉमन इंस्पेक्शन पोर्टल बनेगा। अब रेंडम प्रीमाइसेस पर रेंडम इंस्पेक्टर होगा कोई भी इंस्पेक्टर अब तय जगह पर छापा नहीं मारेगा।

उसे कभी भी भेजा जा सकता है। इंस्पेक्टर को छापेमारी की रिपोर्ट एचओडी को 48 घंटे में ऑनलाइन देनी होंगे। निवेशकों के लिए माहौल बनाने की जयराम सरकार ने यह पहल की है। मुख्य सचिव डॉ श्रीकांत बाल्दी की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला हुआ है।

हिमाचल सर्कार ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लक्ष्य से कॉमन इंस्पेक्टर पोर्टल बनाएगी। इसका मकसद इन्वेस्टर्स मीट में करीब 94 हज़ार करोड़ के निवेश के एमओयू को धरातल पर उतरना होगा।

शनिवार को सचिवालय में मुख्य सचिव डॉ श्रीकांत बाल्दी ने आबकारी एवं कराधान विभाग, नगर नियोजन विभाग, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड आदि महकमों और अन्य सरकारी उपक्रमो से सम्बंधित अधिकारियो की बैठक ली।