हिमाचल प्रदेश में ठंड बढ़ने से जमने लगे नदी नालियां ।


HNN News/ लाहौल स्फीति

हिमाचल प्रदेश के लाहौल घाटी में ठंड बढ़ने के साथ ही पानी के स्त्रोत नदी और नाले तक जमने लगे हैं। घाटी की प्रमुख नदी चंद्रभागा और इसकी सहायक नदियां जमने लगी हैं। यहां दिन का तापमान माइनस 5 से छह डिग्री और रात का तापमान माइनस 16 से 18 डिग्री पर पहुंच गया है।

हिमाचल प्रदेश में बीते 11 दिन से बारिश और बर्फबारी नहीं हुई है। लेकिन 11 से 14 दिंसबर तक हुई बारिश और बर्फबारी के चलते मौसम अब भी ठंडा बना हुआ है। इससे सबसे ज्यादा ठंड उत्तरी इलाकों में बढ़ गई है। पूरा प्रदेश कड़ाके की ठंड की चपेट में हैं।

बता दें कि चंद्रभादगा नदी के वाम तट में स्थित प्यूकर, ग्वाजंग, पसप्राग, गौशाल, मूलिंग, चंद्रावैली व तिंदी में धूप सुबह 11 बजे तक निकलती है और दो से ढाई बजे के बाद धूप खिलना बंद हो जाती है।मात्र दो से तीन घंटे की धूप में ही लोगों का घरों से बाहर निकलना होता है, बाकि समय लोग घरों में दुबके रहने के लिए मजबूर हैं।

प्रदेश के पांच शहरों में न्यूनतम पारा माइनस में चल रहा है। लाहौल स्पीति के केलांग में सबसे कम न्यून्तम तापमान -7.3 डिग्री, मंडी सुंदरनगर में -0.9, कुल्लू के भुंतर में -0.3, किन्नौर के कल्पा में -3.0 और मनाली में पारा -2.8 डिग्री चल रहा है।

आलम यह है कि प्रदेश के पांच शहरों में न्यूनतम पारा माइनस में चल रहा है। लाहौल स्पीति के केलांग में सबसे कम न्यून्तम तापमान -7.3 डिग्री, मंडी सुंदरनगर में -0.9, कुल्लू के भुंतर में -0.3, किन्नौर के कल्पा में -3.0 और मनाली में पारा -2.8 डिग्री चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *