41 समस्याओं, 85 डिमांडों पर उर्जा मंत्री का मौके पर 88 फीसदी समाधान……

रेणुका जी के जामू कोटी में सजा सुखराम का जन मंच

HNN/ नाहन

रविवार को 21वें तथा श्री रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र में लगे दूसरे जन मंच की अध्यक्षता उर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने की। आयोजित हुए जन मंच में जामू कोटी सहित 11 पंचायतों के लोगों ने शिरकत करी। जन मंच में कुल 41 समस्याओं सहित लोगों के द्वारा 85 डिमांड भी रखी गई। बड़ी बात यह है कि इनमें से अधिकतर समस्याओं का उर्जा मंत्री के द्वारा मौके पर ही समाधान भी कर दिया गया। इस दौरान ऊर्जा मंत्री द्वारा 88 फीसदी समस्याओं का मौके पर समाधान किया गया। विकास खण्ड संगडाह की ग्राम पंचायत जामू कोटी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में जनमंच कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने रेणुका बांध परियोजना को गंभीरता से लिया।

उन्होंने कहा कि रेणुका बाध विस्थापितों के सभी 1142 परिवारों की समस्याओं का जल्द समाधान किया जाएगा और विस्थापित परिवारों को आबटित की गई भूमि से सम्बन्धित सभी समस्याओं को मौके पर जाकर अधिकारियों द्वारा निपटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि बांध विस्थापित परिवारों की समस्याओं को दूर करने के लिए जल्द ही सघर्ष समिति की बैठक मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ आयोजित करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि हर मूलभूत सुविधाओं को लोगों के घरद्वार तक पहुंचाना सरकार का उद्देश्य है।

वर्तमान सरकार की एक साल की शेष अवधि में विकास की रफ्तार में और तेजी लाने के लिए सभी अधिकारी अपनी कमर कस लें तथा अधिकारी जनता से जुड़ी़ हर समस्याओं को समय रहते सुलझाए। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा चलाई गई जल जीवन मिशन के अंतर्गत सिरमौर में 83 प्रतिशत घरों को पेयजल उपलब्ध करवाया गया है और मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के अंतर्गत जिला सिरमौर में लगभग 36483 कनेक्शन उपलब्ध करवाए गए, जबकि उज्जवला योजना के अंतर्गत 10944 गैस कनेक्शन वितरित किए गए।

उन्होंने कहा कि जिला सिरमौर में आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 9414 लोगों को स्वास्थ्य लाभ दिया गया है। इसके अतिरिक्त, मुख्यमंत्री हिम केयर योजना के अंतर्गत 42306 लोगो का पंजीकरण किया गया है जबकि 5608 मरीजों को स्वास्थ्य लाभ देने के लिए 2 करोड 45 लाख रूपये व्यय किए गए। उन्होंने कहा कि जिला सिरमौर में 40643 लोगों को पेंशन उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने कहा कि हाल ही में मुख्यमंत्री द्वारा जिला में तीन नए बिजली के सब डिविजन स्थापित करने की घोषणा की गई है जिसे जल्द ही अमलीजामा पहनाया जाएगा।

उन्होंने उपायुक्त को निर्देश देते हुए कहा कि इस जनमंच में प्रेषित कि गई शिकायतों का निवारण समयबद्ध किया जाए। उन्होने बताया कि जनमंच प्रदेश सरकार का एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है जिसके अंतर्गत लोगों की शिकायतों एवं समस्याओं का निपटारा मौके पर ही किया जा रहा है। जनता व सरकार के मध्य दूरियों को कम करने तथा लोगों के साथ सीधा संवाद करने के दृष्टिगत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा जनमंच कार्यक्रम आरंभ किया गया है। इस अवसर पर विभिन्न विभागों से संबधित 41 शिकायतों को मौके पर सुना गया जिसमें 26 शिकायातों का निपटारा मौके पर किया गया तथा शेष शिकायतों को समयबद्ध निपटान के लिए संबंधित विभागों को प्रेषित किया गया। इसके अतिरिक्त 85 से अधिक मांगे भी प्राप्त हुई।

जनमंच कार्यक्रम आरंभ होने से पहले ऊर्जा मंत्री द्वारा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला परिसर में पंचवटी वाटिका रोपित की जिसमें कनक चम्पा, अर्जुन, आंवला व अमरूद के दो वृक्ष रोपित किए गए। ऊर्जा मंत्री द्वारा ‘बेटी है अनमोल’ कार्यक्रम के तहत सात कन्याओं जिनमें पंचायत खूड द्राबिल की अक्षिता, जामू कोटी की नव्या, जरग की अनन्या ठाकुर, दबुडी टिक्कर की प्राची, खाला क्यार की देविका शर्मा, प्रियांशी व रूपाली ठाकुर को 12-12 हजार रूपये की बैंक एफडी प्रदान की गई।

इसके अतिरिक्त, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं कार्यक्रम के तहत ग्राम तिरमल्टी की रेणु पत्नी सुरेश कुमार के घर जन्मी नवजात कन्या सहित घलजीरा की रीना पत्नी रणजीत सिंह व कुब्जा पत्नी ईश्वर, जरग की ममता पत्नी भगवान सिंह, लठियाना की रक्षा पत्नी कल्याण सिंह और धारला की संगीता पत्नी मदन के घर जन्मी नवजात कन्याओं को जिला प्रशासन की ओर से बधाई पत्र व उपहार प्रदान किए गए। इस मौके पर उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने जानकारी दी कि आज जनमंच के दौरान राजस्व विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार के 138 से अधिक प्रमाण पत्र जारी किए गए जिनमें 20 हिमाचली, 10 अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व अन्य पिछडा वर्ग प्रमाण पत्र, 10 कृषक, 10 चरित्र प्रमाण पत्र और 15 आय प्रमाण जारी किए।

इसी प्रकार 13 जमाबंदी, 20 भू-इंतकाल के अतिरिक्त 40 विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र जारी किए गए। जनमंच के दौरान स्वास्थ्य और आयुर्वेद विभाग द्वारा आयोजित निःशुल्क चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया गया, जिसमें आयुर्वेद विभाग के चिकित्सकों द्वारा 112 रोगियों के स्वास्थ्य की जांच व 60 की रक्त जांच की गई और निःशुल्क दवाईयां वितरित की गई। जबकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयोजित चिकित्सा शिविर में 50 से अधिक लोगों की जांच कर निःशुल्क दवाईयां वितरित की गई।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो