83 वर्षीय बुजुर्ग की कोरोना से मौत, संस्कार के दौरान शव यमुना नदी में बहने से बचा

HNN/ पांवटा

उपमंडल पांवटा साहिब के भेडेवाला निवासी 83 वर्षीय बुजुर्ग का शव अंतिम संस्कार करते समय यमुना नदी में बहने से बाल-बाल बचा है। नगर परिषद कर्मचारियों ने कड़ी मशक्कत के बाद शव को पानी से बाहर निकाल कर अंतिम संस्कार किया। जानकारी के अनुसार 83 वर्षीय स्वरूप सिंह पुत्र चुहर सिंह निवासी भेडेवाला कोरोना संक्रमित थे। जिनका मेडिकल कॉलेज नाहन के कोविड अस्पताल में उपचार चल रहा था। जहां पर वृद्ध ने कोरोना से दम तोड़ दिया।

जिसके बाद वीरवार को शव को अंतिम संस्कार के लिए पांवटा साहिब लाया गया तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम व नगर परिषद के कर्मचारी यमुना नदी के किनारे शव का अंतिम संस्कार कर रहे थे। इसी दौरान नदी का जलस्तर बढ़ने से शव पानी के तेज बहाव से 100 मीटर तक बह गया। जिसके बाद नगर परिषद कर्मचारियों ने बड़ी मुश्किल से शव को पानी से बाहर निकाला। शव के पानी में बह जाने से परिजन भड़क गये तथा हंगामा किया गया।

सूचना मिलते ही तहसीलदार वेदप्रकाश, बीडीओ गौरव धीमान व बीएमाओ अजय देओल मौके पर पहुंचे तथा परिजनों से बात कर माहौल को शांत किया गया। जिसके बाद शव का अंतिम संस्कार किया गया। उधर, पांवटा साहिब के तहसीलदार वेदप्रकाश अग्निहोत्री ने बताया यमुना नदी का अचानक जलस्तर बढ़ने से अंतिम संस्कार करते समय शव पानी में बह गया था। लेकिन शव को पानी से बाहर निकालकर फिर सुरक्षित स्थान पर अंतिम संस्कार किया गया।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो