MCI टीम की हुई वापसी, कुछ कमियों को लेकर प्रिंसिपल ने लिया कड़ा संज्ञान, कहा जल्द होगी समस्त समस्याएं हल

गायना व अल्ट्रासाउंड रूम के बहार शौचालयों की समस्या को लेकर दिए निर्देश

HNN News/ नाहन

कहते हैं जब कुछ करने का जज्बा ठान लिया जाए तो पानी में भी पत्थर तैर जाया करते हैं। मौजूदा समय यह स्तिथी अब लंबे समय से बिगड़े हालातों से गुजर रहे डॉ. यशवंत सिंह परमार मेडिकल कॉलेज नाहन पर यह कहावत सटीक बैठती है।

मेडिकल कॉलेज में बिगड़ी हुई तमाम अव्यवस्थाएं अब पटरी पर आणि शुरू हो चुकी है। मेडिकल कॉलेज में आज MCI का पांचवे बैच की LOP के लिए निरिक्षण का दूसरा दिन है।

मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के द्वारा बाकायदा सिलसिलेबार तमाम निरीक्षणों को बखूबी पूरा करवाया गया है। MCI की टीम बावजूद इसके की अभी इस मेडिकल कॉलेज का भवन जल्दी बनने वाला है मौजूदा व्यसस्थाओं को देखकर काफी संतुष्ट भी नजर भी आ रही थी।

आज बुधवार को MCI की टीम ने लाइब्रेरी, OT, लेक्चर थिएटर, लैब आदि पूरे मेडिकल कॉलेज का गहनता से निरीक्षण किया और आज की रिपोर्ट को कम्पाइल कर दोपहर के बाद वापस लौट जाएगी। इसी दौरान मेडिकल कॉलेज के अस्पताल की अव्यवस्थाओं को लेकर कॉलेज के प्रिन्सिपल ने खुद कड़ा संज्ञान लिया है। जिसमे उन्होंने बायता कि गायनी वार्ड में इंग्लिश शीट जल्द लगवा दी जाएगी।

बता दें कि गायनी वार्ड में ऑपरेशन के बाद महिला को इंडियन शीट में बैठने को लेकर बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ता है जिसको लेकर मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने खुद इस समस्या को जाकर देखा और समस्या को जायज मानते हुए जल्द ही इस वार्ड में इंग्लिश शीट लगाने के आदेश भी दे दिए हैं। यही नहीं अल्ट्रासाउंड रूम के बाहर भी एक नया टॉयलेट बहुत जल्द बना दिया जाएगा

कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर अशोक कुमार सहाय ने बताया कि कुछ छोटी छोटी कमियां हैं जिनके कारण परेशानियां पैदा होती थी मगर अब ऐसा नहीं होगा। तमाम समस्याओं का हल मिल जुलकर कर लिया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज टीम का निरिक्षण पूरा हो चुका है। मेडिकल टीम आज वापस लौट जाएगी।

उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज के नए भवन के निर्माण को लेकर सभी विभागों के NOC आ चुके हैं। कॉलेज के नए भवन का निर्माणकार्य बहुत जल शुरू हो जाएगा। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ना केवल अस्पताल में बल्कि MBBS के सभी छात्रों की बेहतर शिक्षा के लिए संकल्प बद्ध है।