सब्जियों के दाम से डगमगाया बजट, नाहन में टमाटर 90 तक पहुंचा….

HNN/ नाहन

जिले में पेट्रोल और डीजल के सस्ता होने के बाद लोगों को उम्मीद थी कि सब्जियों के दामों में गिरावट आएंगे, मगर बाजारों में भाव कम नहीं हुए है। सब्जियों के भाव ने गृहिणियों की रसोई का बजट बिगाड़ कर रख दिया है। आम आदमी की थाली से हरी सब्जियां गायब होने लगी हैं। भाव में आये उछाल से कम आय वाले परिवारों के लिए हरी सब्जी खरीदकर खाना मुश्किल हो रहा है।

नाहन बाजार में टमाटर 90 रुपए प्रति किलो बिक रहा है। इसके अलावा गोभी 60 रुपये, भिंडी 60 रुपये, मटर 160 रुपये, पालक 50 रुपये, फ्रांसबीन 60-70 रुपये, बैंगन 30 रुपये, आलू 30 रुपये, लौकी 40 रुपये और प्याज 45 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहा है। बता दें कि दीपावली से पहले महंगाई ने लोगों को परेशान कर रखा था। पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के मूल्य तो बढ़ ही रहे थे, इसके साथ ही सब्जियां भी महंगी हुई।

हालाँकि दीपावली पर पेट्रोल-डीजल के दामों में कुछ हद तक गिरावट आई। ऐसे में लोग कयास लगाए बैठे थे कि शायद सब्जियों के दामों में भी गिरावट आ जाए परंतु ऐसा कुछ नहीं हुआ। गृहणियों मीना, आशा, ऋतु, पूनम, सुलेखा और मीरा ने बताया कि सब्जियों के दाम इतने बढ़ गए हैं कि खरीदने में भी अब मुश्किल हो रही है।

उन्होंने बताया कि अब वह 1 किलो सब्जी की जगह आधी किलो ही ले जा रहे हैं। सब्जियों के दाम बढ़ने से उनके किचन का बजट प्रभावित हो रहा है। उधर, फ्रूट एंड वेजिटेबल यूनियन नाहन के अध्यक्ष राजकुमार ने बताया कि त्योहारी सीजन खत्म होने के बाद सब्जियों के दामों में गिरावट आने की संभावना है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो